मस्जिदों के इमामों को दी जा रही मासिक वेतन बंद करने अथवा हिन्दू मंदिरों मे पुजारियों को भी मासिक वेतन देने की मांग।

श्री अरविन्द केजरीवाल जी,
आदरणीय मुख्यमंत्री, दिल्ली सरकार।

विषयः-मस्जिदों के इमामों को दी जा रही मासिक वेतन बंद करने अथवा हिन्दू मंदिरों मे पुजारियों को भी मासिक वेतन देने की मांग।

महोदय,
आपको ज्ञात हो कि दिल्ली सरकार के अधीनस्थ कार्यरत मुस्लिम बक्फ बोर्ड द्वारा मस्जिदों के इमामों को दस हजार रूपये मासिक वेतन दिया जा रहा था, जिसे अब बढ़ाकर अठारह हजार रूपये मासिक कर दिया गया है। परन्तु हिन्दू मंदिरो के पुजारियों को एक पैसा भी आर्थिक सहयोग दिल्ली सरकार द्वारा नहीं दी जा रही है। यह बहुसंख्यक हिन्दुओं के साथ नाइंसाफी है। इसके साथ ही दिल्ली सरकार के इस प्रकार के निर्णयों से ऐसा लगता है कि दिल्ली में इस्लामिक सरकार कार्य कर रही है। एक धर्मनिरपेक्ष राष्ट्र में समुदाय के आधार पर असमानता संविधान एवं कानून का उल्लंघन है।
आपसे अनुरोध है कि या तो मस्जिदों के इमामों को वेतन देना बंद कर दें अथवा हिन्दू पुजारियों को भी समान मासिक वेतन देना प्रांरभ करें।

सादर,

भवदीय

(चन्द्रप्रकाष कौषिक) राष्ट्रीय अध्यक्ष

(मुन्ना कुमार शर्मा) राष्ट्रीय महासचिव