Category Archives: Uncategorized

जेवर अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डा का नाम वीर सावरकर अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डा हो-मुन्ना कुमार शर्मा

जेवर अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डा का नाम वीर सावरकर अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डा हो-मुन्ना कुमार शर्मा

अखिल भारत हिन्दू महासभा के राष्ट्रीय महासचिव मुन्ना कुमार शर्मा ने भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी तथा उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री मंहत आदित्यनाथ योगी को पत्र लिखकर जेवर अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डा का नाम वीर सावरकर अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डा, आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे का नाम मंहत दिग्विजय नाथ एक्सप्रेस-वे तथा समाजवादी पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का नाम महंत अवैधनाथ एक्सप्रेस-वे रखने की मांग की है। हिन्दू महासभा राष्ट्रीय महासचिव श्री शर्मा ने पत्र द्वारा कहा है कि नोएडा, ग्रेटर-नोएडा एवं युमना एक्सप्रेस-वे औघोगिक प्राधिकरण क्षेत्र उत्तर प्रदेश ही नहीं बल्कि संपूर्ण भारत वर्ष का सबसे प्रमुख औघोगिक क्षेत्र है। इस क्षेत्र के निकट जेवर में अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डा बनने से न केवल गौतमबुद्धनगर क्षेत्र, बल्कि संपूर्ण उत्तर प्रदेश का विकास तेजी से होगा। जेवर अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डा बनाने की मंजूरी देने के लिये अखिल भारत हिन्दू महासभा की ओर से धन्यवाद देता हूं।
श्री शर्मा ने कहा कि स्वातंत्र्य वीर सावरकर अद्वितीय स्वंतत्रता सेनानी, क्रांतिकारियों के प्ररेणा श्रोत एवं अखंड हिन्दू राष्ट्र के प्रवर्तक थे। भारत की स्वतंत्रता में उनका योगदान अतुलनीय था। आप स्वयं भी सावरकर विचारों को मानने वाले हैं। अतः देश के स्वतंत्रता सेनानियों, क्रांतिकारियों एवं हिन्दू राष्ट्रवादियों को सम्मान देने के लिये जेवर अतंरराष्ट्रीय हवाई अड्डा का नाम वीर सावरकर अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डा रखें। हिन्दू महासभा नेता श्री शर्मा ने कहा कि अखिल भारत हिन्दू महासभा के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व सांसद मंहत दिग्विजयनाथ जी महान स्वंतत्रता सेनानी व हिन्दू राष्ट्रवादी संत थे। अयोध्या के श्रीराम जन्म स्थान मंदिर आंदोलन के जनक थे। हिन्दुओं के कल्याण के लिये उन्होंने संपूर्ण जीवन समर्पित कर दिये थे। अतः आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे का नाम मंहत दिग्विजयनाथ एक्सप्रेस-वे रखें।
हिन्दू महासभा के राष्ट्रीय महासचिव मुन्ना कुमार शर्मा ने कहा कि अखिल भारत हिन्दू महासभा के पूर्व राष्ट्रीय महासचिव व पूर्व सांसद मंहत अवैधनाथ जी महान हिन्दू राष्ट्रवादी संत थे। उन्होंने अपना पूरा जीवन गरीबों, असहायों व हिन्दुआें के कल्याण में समर्पित कर दिया था। अतः प्रस्तावित समाजवादी पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का नाम मंहत अवैधनाथ पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे रखें।

मुन्ना कुमार शर्मा
राष्ट्रीय महासचिव
फोनः 09312177979

एनजीटी कमेटी का रवैया पक्षपातपूर्ण होने के संबंध में शिकायत ।

प्रतिष्ठा में,
श्री अनिल दवे जी,
माननीय पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्री, भारत सरकार
पर्यावरण भवन, केन्द्रीय कार्यालय परिसर, लोधी रोड, नई दिल्ली-110003

विषय :- एनजीटी कमेटी का रवैया पक्षपातपूर्ण होने के संबंध में शिकायत ।

महोदय,

गृह मंत्रालय राजभाषा विभाग का उपर्युक्त पत्र देखने की कृपा करें। उस पत्र में यह सूचित किया गया है कि आपके मंत्रालय को राष्ट्रीय हरित अधिकरण (व्यवहार और प्रक्रिया) नियम 2011 के नियम 33 में संशोधन के लिए लिखा गया है, जिसका संबंध अधिकरण की भाषा अंग्रेजी होने से है। उल्लेखनीय है कि 26 जनवरी, 1965 के पश्चात् भारत सरकार के किसी अधिकरण, आयोग, प्राधिकरण, उपक्रम आदि के नियमों में अंग्रेजी के ही प्रयोग का प्रावधान असंवैधानिक है, क्योंकि अंग्रेजी का प्रयोग राजभाषा अधिनियम 1963 के प्रावधान के अनुसार सरकारी प्रयोजनों के लिए किया जा सकता है, किन्तु अंग्रेजी ही प्रयोग किए जाने का प्रावधान अनुचित और संविधान के प्रावधानों के विपरीत है, इसलिए इस प्रावधान में तत्काल संशोधन होना आवश्यक है। प्रावधान यह होगा कि अधिकरण की भाषा हिंदी होगी किन्तु अंग्रेजी का प्रयोग किया जा सकेगा। इस संबंध में की गई कार्रवाई की जानकारी भिजवाने का कष्ट करें।

सादर,
भवदीय

(मुन्ना कुमार शर्मा) संपादक
(वीरेश त्यागी) प्रबंध संपादक

67 लोगों की हत्या कराने वाले आतंकी को फांसी की सजा मिले, दिल्ली पुलिस दिल्ली उच्च न्यायालय से तुरंत करे अपील-हिन्दू महासभा

नई दिल्ली, 17 फरवरी 2017

67 लोगों की हत्या कराने वाले आतंकी को फांसी की सजा मिले, दिल्ली पुलिस दिल्ली उच्च न्यायालय से तुरंत करे अपील-हिन्दू महासभा

अखिल भारत हिन्दू महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष चन्द्रप्रकाश कौशिक, राष्ट्रीय महासचिव मुन्ना कुमार शर्मा एवं राष्ट्रीय कार्यालय मंत्री वीरेश त्यागी ने 2005 में दिवाली की पूर्व संध्या पर दिल्ली में सिलसिलेवार बम धमाका कर 67 लोगों की जान लेने वाले व सैकड़ां लोगों को घायल करने वाले दुर्दांत आतंकियों की रिहाई पर दुख व्यक्त किया है तथा कहा है कि ऐसे दुर्दांत आतंकियों को फांसी की सजा मिलनी चाहिए। हिन्दू महासभा नेताओं ने भारत के गृह मंत्री व दिल्ली के पुलिस आयुक्त से मांग की है कि दोषियों को फांसी दिलाने के लिये दिल्ली पुलिस तुरंत दिल्ली उच्च न्यायालय में अपील करे तथा निचली अदालत के निर्णय को चुनौती दे। हिन्दू महासभा नेताओं ने दोषियों को सजा दिलाने में नाकाम रहने के कारण दिल्ली पुलिस की निन्दा भी की है। उन्होंने कहा है कि यह जिम्मेबारी दिल्ली पुलिस की थी कि दोषियों व षड्यंत्रकारियों को कड़ी-से-कड़ी सजा मिले। परन्तु दिल्ली पुलिस के ढीला-ढाला रवैये के कारण आतंकियों को सजा दिलाने में विफल रही। हिन्दू महासभा के नेताओं ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से मांग की है कि आतंकियों व देश के दुश्मनों को कड़ी सजा दिलाने के लिये देश में वर्तमान कानूनों की समीक्षा करायें तथा यदि आवश्यक लगे तो आवश्यक सुधार तुरंत करें।

(वीरेश त्यागी)
राष्ट्रीय कार्यालय मंत्री

दूसरे देशों से आये मुसलमानों को भारत से निकालने की मांग।

प्रतिष्ठा में,
श्री नरेन्द्र मोदी जी,
माननीय प्रधानमंत्री, भारत सरकार।
साउथ ब्लॉक, राइसिना हिल,
नई दिल्ली-110011

विषय :- दूसरे देशों से आये मुसलमानों को भारत से निकालने की मांग।

महोदय

कृपया निम्नलिखित तथ्यों का संज्ञान लेने की कृपा करेंः-
1. लगभग 36,000 रोहिंग्या मुसलमान असम, पश्चिम बंगाल, केरल, आंध्र प्रदेश, उत्तर प्रदेश, दिल्ली और जम्मू-कश्मीर में रह रहे हैं ।
2. भारत सरकार इन्हें जम्मू-कश्मीर में ही क्यों बसा रही है, जहाँ इस्लामी जेहादी सक्रिय हैं ।
3. मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती के अनुसार म्यांमार और बांग्लादेश से आए लगभग 13,400 मुसलमान राज्य के कैंपों में रह रहे हैं ।

उल्लेखनीय है कि हिंदू पंडित कश्मीर में अपने घरों में लौट नहीं सके हैं ।
4. म्यांमार सरकार के अनुसार रोहिंग्या मुस्लिमों में और बौद्धों में संघर्ष में जेहादी तत्त्व शामिल हैं ।
5. असम के मुस्लिमों में कट्टरता बढ़ती जा रही है ।
6. रोहिंग्या मुसलमान युवाओं को जिहाद के लिए भड़काया जा सकता है ।

जिस देश में थोड़ी-सी भूमि में 125 करोड़ लोग रह रहे हों, खेती के लिए भूमि कम पड़ रही हो, बांग्लादेश से 5 करोड़ मुसलमान घुसे हुए हों, रियांग हिंदू मिजोरम से खदेड़ दिए गए हों, पश्चिम बंगाल, असम, केरल,बिहार और पश्चिमी उत्तर प्रदेश में हिंदू लड़कियों को मुसलमान उठा रहे हों और जबरन निकाह कर रहे हों, लगभग 4 लाख हिंदू पंडित शरणार्थी बने हुए हों, बड़ी संख्या में पाकिस्तान से आए हिंदू शरणार्थी नागरिकता न प्राप्त कर सके हों, वहाँ म्यांमार से आए रोहिंग्या मुसलमान बसाए जा रहे हों, ऐसे देश पर अवांछित बोझ लादा जा रहा है, वहां केन्द्र सरकार का मूकदर्शक बना रहना राष्ट्रहित में नहीं है।

अतः निवेदन है कि इन मुसलमानों को तुरंत हिंदुस्थान से बाहर निकालने की कृपा करें।

सादर,
भवदीय

(चन्द्रप्रकाश कौशिक)
राष्ट्रीय अध्यक्ष
(मुन्ना कुमार शर्मा)
राष्ट्रीय महासचिव
(वीरेश त्यागी)
राष्ट्रीय कार्यालय मंत्री

नोटबंदी समाप्त, अब देश को प्रधानमंत्री नसबंदी अभियान में लगायेंः-हिन्दू महासभा

नोटबंदी समाप्त, अब देश को प्रधानमंत्री नसबंदी अभियान में लगायेंः-हिन्दू महासभा

नई दिल्ली, 30 दिसम्बर 2016
अखिल भारत हिन्दू महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष चन्द्रप्रकाश कौशिक, राष्ट्रीय महासचिव मुन्ना कुमार शर्मा एवं राष्ट्रीय कार्यालय मंत्री वीरेश त्यागी ने भारतीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से कहा है कि नोटबंदी समाप्त हो गया है, अब देश को नसबंदी अभियान में लगायें। प्रधानमंत्री देश में नसबंदी की घोषणा अपने 31 दिसम्बर के संबोधन में ही करें। हिन्दू महासभा नेताओं ने कहा है कि बहुविवाह, तीन तलाक, हलाला आदि कुप्रथाओं के कारण मुस्लिमों की जनसंख्या बहुत तेजी से बढ़ती जा रही है। जनसंख्या विस्फोट का दबाव तेजी से देश के संसाधनों पर पड़ रहा है। परिणामस्वरूप देश का विकास जिस गति से होनी चाहिए, उस गति से नहीं हो रही है। परन्तु दुर्भाग्य की बात है कि इस ओर केन्द्र की किसी भी सरकार का ध्यान अब तक नहीं गया है। जब तक देश में जनसंख्या विस्फोट को नहीं रोका गया, तब तक देश में न तो विकास तेजी से होगा, न आतंकवाद समाप्त होगा और न ही कानून-व्यवस्था सुदृढ़ होगी।

हिन्दू महासभा महासचिव मुन्ना कुमार शर्मा ने पत्र लिखकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से जनसंख्या विस्फोट को रोकने तथा भारत की समृद्धि के लिये देश में नोटबंदी की तरह ही नशबंदी अभियान चलाने, देश में दो बच्चे व एक विवाह का कानून शीघ्र लागू करने, दो बच्चे के निर्णय को नहीं मानने वाले का मताधिकार समाप्त करने तथा उसे सभी प्रकार की सरकारी सहायता व संरक्षण से वंचित करने, देश में समान नागरिक कानून शीघ्र बनाने तथा मुस्लिम समाज की कुप्रथा बहुविवाह, तीन तलाक व हलाला पर तुरंत रोक लगाने की मांग की है।

(वीरेश त्यागी)
राष्ट्रीय कार्यालय मंत्री

पाकिस्तान का सर्वोत्तम निकट राष्ट्र का दर्जा समाप्त करने की मांग।

प्रतिष्ठा में,
श्री नरेन्द्र मोदी जी,
माननीय प्रधानमंत्री,
भारत सरकार।
साउथ ब्लॉक, नई दिल्ली-110011

विषय :- पाकिस्तान का सर्वोत्तम निकट राष्ट्र का दर्जा समाप्त करने की मांग।

महोदय,
हिंदुस्थान में तो सरकारी अन्देखी के कारण म्यांमार से और बांग्लादेश से भारी संख्या में आए मुसलमान बस रहे हैं और म्यांमार से तो मुसलमान अब जम्मू में बसाए जाए रहे हैं ।
दूसरी तरफ पाकिस्तान में सिंध में बसे हुए लगभग 30 लाख हिंदुओं पर अत्याचारों का सिलसिला जारी है । इस समाचार के अनुसार वहाँ हर साल लगभग 1,000 हिंदू और ईसाई लड़कियों का अपहरण होता है और उन्हें मुसलमान बना लिया जाता है ।
दुर्भाग्य से जिस बांग्लादेश को केंद्रीय सरकार ने देश की 10 हजार एकड़ भूमि दान में दे दी है, वहाँ भी मन्दिर तोड़े जा रहे हैं और हिंदू स्त्रियाँ उठाई जा रही हैं । वर्तमान सरकार भी पिछली सरकारों की गलतियों का सिलसिला आगे न बढ़ाए, इसके लिए पक्की रणनीति बनाना बहुत आवश्यक है । रणनीति में देश के विभिन्न उलझे हुए मामलों के बारे में अगले दशक की कार्यनीति तय कर लेने का निवेदन है ।
इस प्रसंग में पाकिस्तान पर दबाव बढाने के लिए सिंधु नदी और झेलम, चिनाब के पानी की आपूर्ति घटाई जाए और पाकिस्तान का सर्वोत्तम निकट राष्ट्र का दर्जा समाप्त कर दिया जाए । साथ ही पाकिस्तान में हो रहे मानवाधिकारों के उल्लंघन व अल्पसंख्यकों के साथ हो रहे अत्याचार के विषय में पूरे विश्व समुदाय को जागरूक किया जाये तथा आतंक की फैक्ट्री व निर्यातक पाकिस्तान को विश्व समुदाय से अलग-थलग किया जाये।

सादर,
भवदीय

(चन्द्रप्रकाश कौशिक)
राष्ट्रीय अध्यक्ष
(मुन्ना कुमार शर्मा)
राष्ट्रीय महासचिव
(वीरेश त्यागी)
राष्ट्रीय कार्यालय मंत्री