Monthly Archives: December 2017

समाजविरोधी विदेशी नववर्ष का त्याग करें, चैत्र शुक्ल प्रतिपदा के दिन नववर्ष मनायेंः हिन्दू महासभा

नई दिल्ली, 26 दिसम्बर 2017

समाजविरोधी विदेशी नववर्ष का त्याग करें, चैत्र शुक्ल प्रतिपदा के दिन नववर्ष मनायेंः हिन्दू महासभा

अखिल भारत हिन्दू महासभा के राष्ट्रीय महासचिव मुन्ना कुमार शर्मा ने देश के हिन्दुओं का आहवान किया है कि 31 दिसम्बर या 01 जनवरी को मनाये जाने वाले विदेशी नववर्ष का बहिष्कार करें तथा चैत्र शुक्ल प्रतिपदा के दिन भारतीय नववर्ष मनायें। उन्हांने कहा कि अंग्रेजां ने भारतीय संस्कृति का नाष करने के लिये अंग्रेजी नववर्ष को भारतीयों पर थोप दिया, ताकि पष्चिमी सभ्यता का प्रचार-प्रसार हो तथा भारतीय अपनी गौरवषाली परंपरा को भूल जायें। अंग्रेज तो 1947 में चले गये, परन्तु तथाकथित भारतीय अंग्रेजों ने उनकी विरासत को संभाल लिया तथा भारतीय संस्कृति का नाष करने की परंपरा जारी रखी। उन्होंने कहा कि भारतीय युवाओं में मांस, मदिरा, महिलाओं को अपमानित करने व फूहड़पन को बढ़ावा देने के लिये 31 दिसम्बर को नववर्ष मनाने की परंपरा शुरू की गई। 31 दिसम्बर को लोग शराब पीकर नंगानाच करते हैं तथा महिलाओं को अपमानित करते हैं। इसलिये भारतीय इस समाजविरोधी नववर्ष का बहिष्कार करें। राष्ट्रीय कार्यालय मंत्री वीरेष त्यागी ने कहा है कि चैत्र शुक्ल प्रतिपदा हमारा नववर्ष है। हमें इसी दिन नववर्ष मनाना चाहिए। हिन्दू महासभा नेताओं ने मांग की है कि सरकार चैत्र शुक्ल प्रतिपदा के दिन बड़े पैमाने पर नववर्ष कार्यक्रमों का आयोजन करें, ताकि युवा पीढ़ी को भारतीय संस्कृति का ज्ञान प्राप्त हो सके।

वीरेश त्यागी
राष्ट्रीय कार्यालय मंत्री

रोहिणी स्थित आध्यात्मिक विष्वविद्यालय को न्यायालय से दोषी दिये जाने के पूर्व बदनाम करना साजिश का हिस्सा है- हिन्दू महासभा

नई दिल्ली, 21 दिसम्बर 2017

रोहिणी स्थित आध्यात्मिक विष्वविद्यालय को न्यायालय से दोषी दिये जाने के पूर्व बदनाम करना साजिश का हिस्सा है- हिन्दू महासभा

अखिल भारत हिन्दू महासभा के राष्ट्रीय महासचिव मुन्ना कुमार शर्मा ने कहा है कि दिल्ली के रोहिणी स्थित आध्यात्मिक विष्वविद्यालय पर यौन शोषण का आरोप लगाकर बदनाम करना हिन्दू विरोधी शक्तियां की साजिश का हिस्सा है। दिल्ली उच्च न्यायालय ने जांच का आदेष दिया है। हम इस आदेष का स्वागत करते हैं। सीबीआई व दिल्ली पुलिस को निष्पक्ष जांच करनी चाहिए और जांच रिपोर्ट न्यायालय के समक्ष प्रस्तुत करना चाहिए। यदि न्यायालय में इस विष्वविद्यालय पर लगे आरोप सिद्ध होते हैं तो आध्यात्मिक विष्वविद्यालय, उसके संचालक वीरेन्द्र देव दीक्षित व सभी दोषियां पर कड़ी-से-कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए। परन्तु जबतक आरोप सिद्ध नहीं हो जाता, तबतक इस विष्वविद्यालय को बदनाम करने का अधिकार किसी को नहीं हैं। याचिकाकर्ता संस्था फांउडेषन फार सोषल इंपावरमेंट हिन्दू विरोधी शक्तियों के साथ मिलकर एक आध्यात्मिक संस्था को बदनाम कर रही है। हिन्दू महासभा महासचिव श्री शर्मा ने इस प्रकरण में सीबीआई से निष्पक्ष जांच करने की मांग की है।

गुजरात व हिमाचल प्रदेश विधानसभा में भाजपा की जीत के लिये बधाई।

प्रतिष्ठा में,
1. श्री नरेन्द्र मोदी जी,
माननीय प्रधानमंत्री, भारत सरकार।
2. श्री अमित शाह जी,
राष्ट्रीय अध्यक्ष, भाजपा।

विषय :-गुजरात व हिमाचल प्रदेश विधानसभा में भाजपा की जीत के लिये बधाई।

महोदय,
आज गुजरात और हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव परिणाम जानकर हमें अति प्रसन्नता हुई है। दोनों विधानसभाओं में बहुमत प्राप्त करने के लिये आपको बहुत-बहुत बधाई।
आशा करते हैं कि आगे भी आपको चुनावों में सफलता प्राप्त होते रहेगी एवं राष्ट्र की प्रगति दिन दुगुने और रात चौगुने गति से बढ़ती रहेगी।

सादर,

भवदीय

(चन्द्रप्रकाष कौषिक) राष्ट्रीय अध्यक्ष

(मुन्ना कुमार शर्मा) राष्ट्रीय महासचिव

पवित्र अमरनाथ गुफा के संबंध में दिये निर्णय को एनजीटी तुंरत वापस ले-अखिल भारत हिन्दू महासभा

नई दिल्ली, 14 दिसम्बर 2017

पवित्र अमरनाथ गुफा के संबंध में दिये निर्णय को एनजीटी तुंरत वापस ले-अखिल भारत हिन्दू महासभा

अखिल भारत हिन्दू महासभा के राष्ट्रीय महासचिव मुन्ना कुमार शर्मा ने कहा है कि पवित्र अमरनाथ गुफा में मंत्रोच्चार व प्रसाद चढ़ाने पर लगायी गई पांबदियों के संबंध में दिये निर्णय को राष्ट्रीय ग्रीन ट्रिब्यूनल तुंरत वापस ले। एनजीटी द्वारा मंत्रोच्चार, प्रसाद चढ़ाने, जयकारा लगाने पर लगी रोक हिन्दुओं की धार्मिक भावनाओं के साथ खिलवाड़ है। हिन्दुस्थान के 100 करोड़ हिन्दू इसे चुप-चाप नहीं देख सकते हैं। हिन्दू महासभा नेता श्री शर्मा ने कहा है कि पारिस्थितिकी व पर्यावरण संबंधी सभी समस्याओं के लिये केवल हिन्दू जिम्मेबार नहीं हैं। कभी पटाखे जलाने पर रोक तो कभी भस्म आरती पर पाबंदी, कभी जलाभिषेक पर पाबंदी आदि संबंधी फैसले विभिन्न न्यायालयों के रूटिन में सम्मिलित हो गया है। यह हिन्दू समाज को स्वीकार्य नहीं है। एनजीटी अपने निर्णय को तुंरत वापस ले, अन्यथा केन्द्र सरकार इस विषय में एक मजबूत कानून बनाकर पांबदियों को निष्प्रभावी करे। अखिल भारत हिन्दू महासभा महासचिव मुन्ना कुमार शर्मा ने कहा है कि देष के हिन्दुओं ने हिन्दुत्व के मुदों पर 2014 में भाजपा को वोट दिया था। अब केन्द्र की भाजपा सरकार हिन्दू आस्थाओं पर की जा रही चोट पर तुंरत पाबंदी लगाकर हिन्दुओं की भावनाओं की रक्षा करे।

(मुन्ना कुमार शर्मा)
राष्ट्रीय महासचिव
फोनः9312177979

हिमालय की चोटियों के नाम और उनकी जानकारी हाई स्कूल के भूगोल के पाठ्यक्रम में शामिल कराने का अनुरोध ।

प्रतिष्ठा में,
श्री प्रकाश जावड़ेकर जी,
माननीय मानव संसाधन विकास मंत्री, भारत सरकार
शास्त्री भवन, नई दिल्ली-110001

विषय :- हिमालय की चोटियों के नाम और उनकी जानकारी हाई स्कूल के भूगोल के
पाठ्यक्रम में शामिल कराने का अनुरोध ।

महोदय,

‘‘हिमालय का टिप-इन-टाप है तपोवन‘‘ नामक लेख में हिमालय के तपोवन क्षेत्र के विषय में कुछ जानकारी दी गई है । साथ-साथ हिमालय की 15 प्रसिद्ध चोटियों के नाम और उनकी समुद्रतल से ऊँचाई का विवरण भी दिया गया है ।

इस प्रसंग में यह वांछित प्रतीत होता है कि नगाधिराज हिमालय की चोटियों और कुछ तपोवन जैसे स्थलों के बारे में हाई स्कूल के भूगोल के पाठ्यक्रम में जानकारी दी जाए । इस विषय में जो भी अध्याय हो, उसमें सांस्कृतिक दृष्टि से हिमालय का वर्णन रहे और उसमें वहाँ की स्वच्छता के प्रति आदर का भाव भी परोक्ष रूप में रहे । हो सके तो राष्ट्र कवि डॉ. रामधारी सिंह दिनकर जी की ‘मेरे नगपति मेरे विशाल‘ कविता के भी कुछ अंश रहें ।
नेपाल में माउंट एवरेस्ट चोटी का नाम गौरीशंकर होता है, यह भी जाँचना आवश्यक है कि क्या माउंट एवरेस्ट और गौरीशंकर अलग-अलग चोटियाँ हैं अथवा गौरीशंकर चोटी का नाम ही माउंट एवरेस्ट हो गया है ।
वस्तुतः माउंट एवरेस्ट नाम में औपचारिकता है और समादर का भाव नहीं है, इसलिए नाम के सम्बंध में पुनर्विचार आवश्यक है । इस सम्बंध में की गई कार्रवाई की जानकारी भिजवाने का कष्ट करें ।

सादर,
भवदीय

(चन्द्रप्रकाष कौषिक) राष्ट्रीय अध्यक्ष

(मुन्ना कुमार शर्मा) राष्ट्रीय महासचिव

धर्म को मजहब न बनाएँ, धर्मनिरपेक्षता, आजादी के बाद का सबसे बड़ा झूठ ।

प्रतिष्ठा में,

श्री रवि शंकर प्रसाद जी,
माननीय विधि एवं न्याय मंत्री, भारत सरकार
शास्त्री भवन, नई दिल्ली-110001

विषय :- 1. धर्म को मजहब न बनाएँ ।
2. धर्मनिरपेक्षता, आजादी के बाद का सबसे बड़ा झूठ ।

महोदय,

‘धर्म को मजहब न बनाएं‘ शीर्षक वाले लेख के लेखक श्री शंकर शरण ने बहुत सही लिखा है कि-

धर्म आचरण से जुड़ा है जबकि रिलीजन विश्वास से । उन्होंने आगे यह भी लिखा है कि मुसलमानों और ईसाइयों में फेथ ही रिलीजन हैं । अंग्रेजी शिक्षा और विकृत सेक्युलरिज्म के सम्मिलित दुष्प्रभाव से हम धर्म से दूर हो रहे हैं ।
अतः निवेदन है कि जिस प्रकार संविधान में सेक्युलर शब्द के लिए हिंदी में पंथनिरपेक्ष लिखा गया है उसके लिए सब सरकारी विभागों आदि को सलाह दे दी जाए कि बोलने और लिखने में सदा पंथनिरपेक्ष शब्द का प्रयोग करें और कहीं भी धर्मनिरपेक्ष का प्रयोग न करें ।
उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने भी जोर देकर कहा है कि शासन की व्यवस्था धर्मनिरपेक्ष नहीं बल्कि पंथनिरपेक्ष हो सकती है । उन्होंने यह भी कहा है कि-
सनातन धर्म ही वास्तव में धर्म है, धर्म को मत-मजहब से जोड़ने पर भ्रम होगा । इस कथन के पश्चात् भी यह आवश्यक है कि विधि मंत्रालय तत्काल सब सरकारी विभागों को सलाह (ंकअपेवतल) दे कि लिखने और बोलने में धर्म, पंथ, मजहब और रिलीजन को अलग-अलग रखें और मजहब तथा रिलीजन को धर्म न बोलें/लिखें ।
इस सम्बंध में की गई कार्रवाई की जानकारी भिजवाने का कष्ट करें ।

सादर,
भवदीय

(मुन्ना कुमार शर्मा)  राष्ट्रीय महासचिव

(वीरेश त्यागी) राष्ट्रीय कार्यालय मंत्री

हिन्दू हैं केरल में आतंकित : योगी आदित्यनाथ। बंग्लादेश में कैसे बचेंगे हिन्दू : तसलीमा नसरीन ।

प्रतिष्ठा में,

श्री नरेन्द्र मोदी जी,
माननीय प्रधानमंत्री, भारत सरकार।
साउथ ब्लॉक, नई दिल्ली-110011

विषय :- 1. हिन्दू हैं केरल में आतंकित : योगी आदित्यनाथ ।

2. बंग्लादेश में कैसे बचेंगे हिन्दू : तसलीमा नसरीन ।

महोदय,

निवेदन है कि देश के केरल राज्य में हिन्दुओं के सम्बंध में उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने जो सत्य प्रकट किया है, वह उतना सत्य है जितना सूर्योदय । यह लाख टके का प्रश्न है कि देश की सुदृढ़ केन्द्रीय सरकार स्वदेश में हिन्दू भाइयों को बचाने में सक्षम क्यों नहीं है और इस दिशा में क्या कोई उपाय किए गए हैं ? इसके साथ कम्युनिस्ट उपद्रवियों को कैसे नियंत्रित किया जाए, क्या इसके लिए कोई सूत्र बनाया गया है ? विश्वास है कि शीघ्र ठोस कदम उठाए जाएँगे ।

स्वदेश में हिन्दुओं को और हिन्दुओं की लड़कियों को लव-जिहाद से बचाना सम्भव नहीं हो रहा है तो इस बीच बंग्लादेश में हिन्दुओं के ऊपर हो रहे अत्याचारों का तथ्यपूर्ण खुलासा बहुचर्चित लेखिका बहन तसलीमा नसरीन ने प्रस्तुत करके बेचौन कर दिया है । जो तथ्य इस लेख में आए हैं उनके अनुसार बंग्लादेश में हिन्दू केवल दूसरे दर्जे के नागरिक ही नहीं बल्कि विलुप्त होती हिन्दू जाति है । यह कहने में भी अब संकोच नहीं होना चाहिए कि हिन्दुस्थान में भी हिन्दुओं को मुल्ला-मौलवियों ने तथा कथित धर्मनिरपेक्ष दलों की तुष्टीकरण नीति के बल पर दूसरे दर्जे के नागरिक बना दिए हैं ।

निवेदन है कि केन्द्रीय सरकार कोई ऐसा कदम उठाए, जिससे हिन्दुओं के दुर्बल परिवारों को जिहादी अत्याचारों से और लव-जिहाद से बचाया जा सके।

सादर,
भवदीय

(चन्द्रप्रकाश कौषिक)  राष्ट्रीय अध्यक्ष

(मुन्ना कुमार शर्मा)  राष्ट्रीय महासचिव

यदि लव जेहाद एवं धर्मांतरण पर रोक नहीं लगायी गई तो राजस्थान जैसी घटना को रोका नहीं जा सकता-हिन्दू महासभा

नई दिल्ली, 08 दिसम्बर 2017

यदि लव जेहाद एवं धर्मांतरण पर रोक नहीं लगायी गई तो राजस्थान जैसी घटना को रोका नहीं जा सकता-हिन्दू महासभा

अखिल भारत हिन्दू महासभा के  राष्ट्रीय महासचिव मुन्ना कुमार शर्मा ने भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को पत्र लिखकर देष में सांप्रदायिकता को बढ़ाया देने वाले संगठित व विदेषी फंडिंग द्वारा संचालित लव जेहाद व धर्मांतरण पर पूर्ण रूप से रोक लगाने तथा हिन्दू युवतियों की जिंदगी को  नरक में ढकेलने वाले लव जेहादियों को फांसी पर लटकाने व उसकी भारतीय नागरिकता समाप्त करने की मांग की है। उन्होंने कहा कि यदि  देष में लव जेहाद व धर्मांतरण को प्रतिबंधित नहीं किया गया तो राजस्थान जैसी अमानवीय घटनाओं को बार-बार घटित होने से कोई नहीं रोक सकता है। लव जेहाद के द्वारा देष को सांप्रदायिक आग में धकेला जा रहा है तथा देष की एकता-अखंडता को नुकसान करने की कार्यवाही की जा रही है। उन्होंने कहा है कि हिन्दुस्तान में लव जेहाद के द्वारा मुस्लिम युवकों द्वारा गैर मुस्लिम लड़कियां को लालच, प्रलोभन, दबाव, बलैकमेलिंग के द्वारा प्यार के जाल में फंसाया जा रहा है। झूठा प्यार दिखाकर उसका मुस्लिम धर्म में धर्मांतरण कराया जाता है और तत्पष्चात उसका मुस्लिम युवक के साथ शादी करा दी जाती है। शादी के उपरांत उसे बच्चे पैदा करने की मषीन बनायी जाती है। लव जेहाद एक संगठित अंतर्राष्ट्रीय षड्यंत्र है जिसके द्वारा पूरी दुनिया को इस्लाममय बनाने का कार्य किया जा रहा है। पूरा देष लव-जेहाद की चपेट में है। इसके माध्यम से गैर मुस्लिम लड़कियों को नरक में ढकेला जा रहा है। राष्ट्रीय जांच एजेंसी की रिपोर्ट से भी यह सिद्ध हो चुका है। यह एक संगठित अपराध है, जिसे विदेषी आंतकी समूहों द्वारा समर्थन व आर्थिक सहयोग मिल रहा है। लव जेहाद को अंजाम देने वाले मुस्लिम युवकां को आईएसआईएस, जमात-उद-दावा व अन्य मुस्लिम संस्थाओं द्वारा लाखों रूपये देकर पुरस्कृत किया जाता है। इस संगठित अपराध के द्वारा देष को सांपद्रायिक आग में धकेला जा रहा है। इसे तत्काल रोकने  की आवष्कता है।

(मुन्ना कुमार शर्मा)
राष्ट्रीय महासचिव

फोनः9312177979

श्रीलंका में मुस्लिमों के खिलाफ हिंसा के कारण भारत में घुसपैठ रोकने व घुसपैठियों को देष से बाहर ढकेलने की मांग।

प्रतिष्ठा में,

श्री राजनाथ सिंह जी,
माननीय गृहमंत्री, भारत सरकार,
नॉर्थ ब्लॉक, नई दिल्ली-110001

विषय :- श्रीलंका में मुस्लिमों के खिलाफ हिंसा के कारण भारत में घुसपैठ रोकने व घुसपैठियों को देष से बाहर ढकेलने की मांग।

महोदय,

श्रीलंका में कुछ महीने पहले बौद्धों को इस्लाम कबूल कराने का मामला सामने आया था अर्थात् मुसलमानों ने जनसंख्या बढ़ाने का अपना महा-अभियान हिन्दुस्थान की तरह बंग्लादेश, म्यांमार और श्रीलंका में जोर-शोर से चला रखा  है । नेपाल में लगभग 50 वर्ष पहले मुसलमान उड़द पर सफेदी के बराबर थे और कोई मस्जिद नहीं थी, आज वहाँ लाखों मुसलमान हैं और दर्जनों मस्जिदें हैं, जो हिन्दुस्थान के मुसलमानों की कृपा से हैं ।
केन्द्रीय सरकार को तत्काल ऐसे कदम उठाने चाहिएँ ताकि रोहिंग्या मुसलमानों की तरह कहीं हिन्दुस्थान में श्रीलंका के मुसलमान भी घुसने न लगें, क्योंकि मुसलमानों के प्रति गहरे लगाव के कारण यहाँ के मुसलमान आप-पास के देशों से आने वाले मुसलमानों को घुसाने में लगे हैं ।
रोहिंग्या मुसलमानों को तत्काल बंग्लादेशी मुसलमानों के साथ बंग्लादेश में धकेल दिया जाना सरकारी कर्तव्य है । इस सम्बंध में की गई कार्रवाई की जानकारी भिजवाने का कष्ट करें ।

सादर,
भवदीय

(चन्द्रप्रकाष कौषिक) राष्ट्रीय अध्यक्ष

(मुन्ना कुमार शर्मा)  राष्ट्रीय महासचिव

श्रीराम जन्मस्थान मुक्ति आंदोलन के बलिदानियों की याद में बलिदानी स्मारक का निर्माण कार्य का हुआ शुभारंभ, शीघ्र ही भव्य स्मारक बनेगा-हिन्दू महासभा

नई दिल्ली, 06 दिसम्बर 2017

श्रीराम जन्मस्थान मुक्ति आंदोलन के बलिदानियों की याद में बलिदानी स्मारक का निर्माण कार्य का हुआ शुभारंभ, शीघ्र ही भव्य स्मारक बनेगा-हिन्दू महासभा

आज अखिल भारत हिन्दू महासभा के नई दिल्ली स्थित मुख्यालय हिन्दू महासभा भवन में अखिल भारत हिन्दू महासभा एवं यूनाइटेड हिन्दू फ्रंट के संयुक्त तत्वावधान में श्रीराम जन्मभूमि मुक्ति आंदोलन में बलिदान हुए लगभग पांच लाख बलिदानियों की याद में निर्मित होने वाले बलिदानी स्मारक का शुभारंभ कार्य सैकड़ों साधु-संतों एवं धर्मांचार्यां की उपस्थिति में संपन्न हुआ। इस अवसर पर एक भव्य समारोह का आयोजन किया गया। अखिल भारत हिन्दू महासभा के राष्ट्रीय महासचिव मुन्ना कुमार शर्मा ने मंच संचालन किया तथा सभी उपस्थितजनों का स्वागत किया। अखिल भारत हिन्दू महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष चन्द्रप्रकाष कौषिक, राष्ट्रीय कार्यालय मंत्री वीरेष त्यागी, यूनाइटेड हिन्दू फ्रंट के अंतर्राष्ट्रीय महासचिव जयभगवान गोयल ने साधु-संतें को शाल ओढ़ाकर सम्मानित किया। इस अवसर पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के राष्ट्रीय प्रचारक इन्द्रेष कुमार, स्वामी राघवानन्द जी महाराज,  जगतगुरू हंस देवाचार्य महामंडलेष्वर स्वामी धर्मदेवजी महाराज, महामंडलेष्वर महंत नवल किषोर दासजी महाराज, आचार्य लोकेषमुनिजी महाराज, महामंडलेष्वर स्वामी अच्चुतानंद गिरि जी महाराज, श्री मंहत अगस्त्यगिरिजी जी महाराज, मंहत तलवार गिरी जी महाराज, स्वामी प्रेमाचार्य जी रामायणी, मंहत मुक्तानन्द जी, मंहत धनष्याम दास जी, थानापति लखनगिरि जी, थानापति सर्वेक्षानन्द जी, कोतवालजी गिरिजानन्द जी, कोतवाल जी दुर्गेषदास जी, महामंडलेष्वर चन्द्रषेखरानन्द गिरि जी, महंत श्याम नाथ जी, मंहत बलराम गिरि जी, महंत प्रेमगिरि जी, महंत भोला गिरि जी, साध्वी पूर्वी साक्षी, कृष्णगोस्वामी जी, संजय गोस्वामी जी, एडवोकेट बी.के. सिन्हा, अमरनाथ गोयल, पूर्णिमा कोठारी, सुरेष खंडेलवाल, दिगम्बर बाबा, उŸार प्रदेष हिन्दू महासभा प्रदेष अध्यक्ष योगेन्द्र वर्मा सहित सैकड़ां साधु-संत, धर्माचार्य, समाजसेवी एवं धर्म प्रेमी उपस्थित थे। बलिदानी स्मारक के शुभारंभ से पूर्व हवन-पूजन किया गया। शीघ्र ही बलिदानी स्मारक का निर्माण होगा। स्मारक स्थल पर अयोध्या से लाई गई श्रीराम ज्योति 24 घंटे जलती रहेगी तथा 24 घंटे श्रीराम नाम का जाप चलता रहेगा। यह स्मारक बलिदानियों को श्रद्धा-सुमन अर्पित करने के उदेष्य से निर्मित किया जा रहा है। जहां देष-विदेष से आकर हिन्दू बलिदानियों के स्मारक पर पुष्प चढ़ा सकेंगे। अखिल भारत हिन्दू महासभा ने श्रीरामजन्म स्थान मुक्ति आंदोलन की शुरूआत की थी और अब हिन्दू महासभा भवन में बलिदानी स्मारक का निर्माण कराया जा रहा है।

(वीरेष त्यागी)
राष्ट्रीय कार्यालय मंत्री