Monthly Archives: February 2018

मुख्य सचिव अंशु प्रकाश की पीटाई के मुख्य साजिशकर्ता मुख्यमंत्री केजरीवाल को तुरन्त गिरफ्तार किया जाये-हिन्दू महासभा

नईदिल्ली 21 फरवरी 2018,

मुख्य सचिव अंशु प्रकाश की पीटाई के मुख्य साजिशकर्ता मुख्यमंत्री केजरीवाल को तुरन्त गिरफ्तार किया जाये-हिन्दू महासभा

अखिल भारत हिन्दू महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष चन्द्रप्रकाष कौषिक, राष्ट्रीय महासचिव मुन्ना कुमार शर्मा एवं राष्ट्रीय कार्यालय मंत्री वीरेश त्यागी ने एक संयुक्त वक्वव्य में दिल्ली सरकार के मुख्य सचिव अंशु प्रकाश को घर बुलवाकर पीटवाने के लिये मुख्य साजिषकर्ता दिल्ली के मुख्यमंत्री अरबिन्द केजरीवाल पर मुकदमा दर्ज कर तुरन्त गिरफ्तार किया जाये तथा दिल्ली की आम आदमी पार्टी की सरकार को बर्खास्त किया जाये। हिन्दू महासभा नेताओं ने कहा है कि दिल्ली सरकार के अधिकारी की पीटाई करवाकर केजरीवाल ने सभी मर्यादाओं को ताक पर रख दिया है। जनता को गुमराह कर सत्ता में आनेवाली आम आदमी पार्टी के मुखिया अरबिन्द केजरीवाल ने दिल्ली की समस्त जनता को धोखा दिया है और अब वे गुंडागर्दी पर उतार हैं। ऐसे व्यक्ति को मुख्यमंत्री जैसे पद पर रहने से दिल्ली की जनता का अपमान हो रहा है। हिन्दू महासभा नेताओं ने कहा है कि केजरीवाल ने देष की जनता से वादा किया था कि वे स्वच्छ राजनीति करेंगे और योग्यतम व्यक्तियों को विधानसभा और लोकसभा का उम्मीदबार बनायेंगें। परन्तु उन्होंने अपनी पार्टी से आपराधिक प्रवृति के कई व्यक्तियों को दिल्ली विधानसभा का टिकट दे दिया। उन्होंने दिल्ली की समस्त जनता के साथ धोखा किया है। दिल्ली की जनता आने वाले चुनावों में केजरीवाल को सबक सिखायेंगें।

(वीरेश त्यागी)
राष्ट्रीय कार्यालय मंत्री

भारत में जनसंख्या विस्फोट को रोकने के लिये एक विवाह और अधिकतम दो बच्चे पैदा करने का कानून लागू करने व इस पत्र को ही याचिका मान लेने का अुनरोध।

प्रतिष्ठा में,

माननीय मुख्य न्यायाधीष,
भारत का उच्चतम न्यायालय
भगवान दास रोड,
नई दिल्ली-110001

विषयः भारत में जनसंख्या विस्फोट को रोकने के लिये एक विवाह और अधिकतम दो बच्चे पैदा करने का कानून लागू करने व इस पत्र को ही याचिका मान लेने का अुनरोध।

महोदय,

आपको ज्ञात है कि भारत की जनसंख्या तेजी से बढ़ रही है। बढ़ती जनसंख्या के कारण देष की प्रगति, संसाधन व विकास प्रभावित हो रही है। इसका बुरा असर देष के पर्यावरण, रोजगार, गरीबी, अषिक्षा और अर्थव्यवस्था पर भी पड़ रहा है। इससे ग्लोबल वार्मिग भी बढ़ रहा है। संसाधन सीमित हैं। इसलिये जनसंख्या विस्फोट से संसाधनों व विकास पर बुरा प्रभाव पड़ रहा है।
केन्द्र व राज्य सरकारों द्वारा जागरूकता फैलाने का कार्य तो हो रहा है। परन्तु किसी प्रभावी नीति के अभाव में बढ़ती जनसंख्या विस्फोट स्थिति में पहुंच गई है।
अतः आपसे अनुरोध है कि जनसंख्या विस्फोट को रोकने के लिये भारत सरकार व राज्य सरकारों को निर्देष दिया जाये कि भारत में एक विवाह और अधिकतम दो बच्चे पैदा करने का कानून शीघ्र लागू किया जाये।

इस पत्र को ही याचिका मान लिया जाये।

सादर,
भवदीय

(चन्द्रप्रकाष कौषिक) राष्ट्रीय अध्यक्ष
(मुन्ना कुमार शर्मा) राष्ट्रीय महासचिव
(वीरेष त्यागी) राष्ट्रीय कार्यालय मंत्री

वेलेंटाइन डे भारतीय संस्कृति का शत्रु, वेलेंटाइन डे के दिन युगल जोड़ों की करायी जायेगी शादी-हिन्दू महासभा

नई दिल्ली 10 फरवरी 2018,

वेलेंटाइन डे भारतीय संस्कृति का शत्रु, वेलेंटाइन डे के दिन युगल जोड़ों की करायी जायेगी शादी-हिन्दू महासभा

अखिल भारत हिन्दू महासभा के राष्ट्रीय महासचिव मुन्ना कुमार शर्मा ने कहा है कि वेलेंटाइन डे भारतीय संस्कृति का शत्रु है व इसे भारतीय लड़कियों की जिंदगी को बर्बाद करने के लिये देष पर थोपा गया है। इस भारत विरोधी वेलेंटाइन को भारतीय परिवार कभी भी बर्दाष्त नहीं करेंगे।
हिन्दू महासभा राष्ट्रीय महासचिव मुन्ना कुमार शर्मा ने घोषणा किया है कि वेलेंटाइन डे के दिन जिन युगल जोड़ों को सार्वजनिक स्थानों पर फूहड़ता फैलाते हुए देखा जायेगा, उसे हिन्दू महासभा द्वारा विवाह के बंधन में बांधा जायेगा। श्री शर्मा ने बताया कि विवाह मंडप व कई पुरोहितों की व्यवस्था की गई है। विवाह कार्यक्रम मंदिर मार्ग, नई दिल्ली स्थित हिन्दू महासभा भवन में आयोजित की जायेगी।

(मुन्ना कुमार शर्मा) राष्ट्रीय महासचिव
फोनः9312177979

जम्मू के सुंजवां में भारतीय सेना के कैम्प पर हमले के संदिग्ध रोहिंग्या मुस्लिमों को भारत से बाहर करने की मांग।

प्रतिष्ठा में,

श्री नरेन्द्र मोदी जी,
माननीय प्रधानमंत्री, भारत सरकार।
साउथ ब्लॉक, नई दिल्ली-110011

विषय :- जम्मू के सुंजवां में भारतीय सेना के कैम्प पर हमले के संदिग्ध रोहिंग्या मुस्लिमों को भारत से बाहर करने की मांग।

महोदय,
भारतीय सेना के कैंप पर हमला कर सेना के जबानों की हत्या करने वाले रोहिंग्या मुसलमानों को बसाने का प्रयास किया जा रहा है। आतंकी याकूब मेमन के अधिवक्ता रहें प्रशांत भूषण इन रोहिंग्या मुस्लिम घुसपैठियों की वकालत करके इनको यहां मानवता के नाम पर बसाना चाहते हैं। परंतु क्या यह कोई सुनिश्चित कर सकता है कि रोहिंग्या मुसलमान भारत में घुसपैठ करके बंग्लादेशी घुसपैठियों के समान जिहाद के अंतर्गत आतंक व अपराध को बढ़ावा नही देंगें ? जबकि हम पहले ही करोड़ों बंग्लादेशी घुसपैठियों के आतंक को झेल रहे हैं जिसके कारण हमारी न्यायायिक व्यवस्था बार बार सरकार से इन घुसपैठियों को देश से बाहर निकालने के लिये भी परामर्श देती आ रही है। फिर भी हम इन रोहिंग्या घुसपैठियों को स्वीकार करके मानवता के नाम पर आतंक व अपराध की समस्याओं को ही बढ़ावा दें तो यह भूल नहीं आत्मघाती होगा।
जरा सोचें ये मुस्लिम म्यंमार से क्यों भाग रहें है ? इन्होने वहां के बौद्ध व अन्य धर्म के नागरिकों को अपनी जिहादी सोच के कारण वर्षो से आतंकित कर रखा है। वहां के एक बौद्ध भिक्षु विराथू ने जब इनकी मानसिकता को समझा तो उन्होने शांतिप्रिय होते हुए भी अपने राष्ट्र व नागरिकों के अस्तित्व की रक्षा के लिये इन आतंकियों के विरुद्ध संघर्ष करने के लिये सभी को प्रेरित किया।अभी भी वहां ये मुस्लिम आतंकी रक्षाबलों के ठिकानों पर व सामान्य क्षेत्रों में भी आक्रमण करने से पीछे नही हट रहें हैं।अनेक आतंकी संगठन वहां के स्थानीय मुसलमानों का सहयोग करके जिहाद के लिये सक्रिय है।
ऐसी जिहादी मानसिकता वाले रोहिंग्या मुसलमानों को हम अपने यहां शरण दें तो हम भविष्य में इनके द्वारा और अधिक जिहादी संकट को कैसे रोक पायेंगे ? जबकि हम अपने ही लाखों कश्मीरी हिंदुओं को कश्मीर में उनके ही नगरों में उन्हीं की संपत्तियों में पुनः स्थापित करने में जिहादियों के कारण ही असमर्थ हो रहें हैं।
क्या मानवतावादियों को उदार व सहिष्णु हिंदुओं की पीड़ा द्रवित नहीं करती ? क्या सभी मानवतावादियों को मानवता का सर्वनाश करने वाले इन आतंकियों के ही मानवाधिकार की चिंता होती है ?
अतः आपसे मांग है कि जम्मू के सुंजवां में भारतीय सेना के कैम्प पर हमला कर भारतीय सैनिकों की हत्या के संदिग्ध अवैध रुप से रह रहें रोहिंग्या घुसपैठियों को देश से बाहर निकाला जाये और भविष्य में म्यंमार से भाग कर आने वालों का देष में प्रवेश वर्जित किया जाये।

सादर,
भवदीय

(चन्द्रप्रकाष कौषिक) राष्ट्रीय अध्यक्ष
(मुन्ना कुमार शर्मा) राष्ट्रीय महासचिव
(वीरेष त्यागी) राष्ट्रीय कार्यालय मंत्री

उत्तर प्रदेश के सभी कृषि विज्ञान केन्द्रों, पुलिस प्रषिक्षण केन्द्रों व जेलों में गौषाला की स्थापना करने की मांग।

प्रतिष्ठा में,

योगी आदित्यनाथ जी महाराज,
माननीय मुख्यमंत्री, उत्तर प्रदेश
लाल बहादुर शास्त्री भवन, लखनऊ
उत्तर प्रदेश

विषयः-उत्तर प्रदेश के सभी कृषि विज्ञान केन्द्रों, पुलिस प्रषिक्षण केन्द्रों व जेलों में गौषाला की स्थापना करने की मांग।

महोदय,
आपको ज्ञात है कि कृषि विज्ञान केन्द्रों, पुलिस प्रषिक्षण केन्द्रों व जेलों में काफी मात्रा में भूमि उपलब्ध है तथा मानवशक्ति भी उपलब्ध है। यदि इस भूमि व मानव शक्ति का प्रयोग गौषालाओं के रखरखाव पर खर्च किया जाये तो गौवंश की भी रक्षा होगी तथा पुलिस प्रषिक्षण केन्द्रों व जेलों में शुद्ध दूध भी उपलब्ध हो सकेगा।
अतः आपसे अनुरोध है कि उत्तर प्रदेष के सभी कृषि विज्ञान केन्द्रों, पुलिस प्रषिक्षण केन्द्रों व जेलों में गौशलाओं की स्थापना शीघ्र करने का आदेष पारित करें।

सादर,
भवदीय

(मुन्ना कुमार शर्मा) राष्ट्रीय महासचिव
(वीरेश त्यागी) राष्ट्रीय कार्यालय मंत्री