Daily Archives: September 13, 2018

बलात्कारी आसिफ खान (आषु भाई गुरू) लवजेहाद का सरगना है, आसिफ और उसके बेटे समर खान को फांसी दी जाये-हिन्दू महासभा

नई दिल्ली,12 सितम्बर 2018

बलात्कारी आसिफ खान (आषु भाई गुरू) लवजेहाद का सरगना है, आसिफ और उसके बेटे समर खान को फांसी दी जाये-हिन्दू महासभा

अखिल भारत हिन्दू महासभा के राष्ट्रीय महासचिव मुन्ना कुमार शर्मा ने कहा है कि बलात्कारी आसिफ खान ( आषु भाई गुरू) लवजेहाद  सरगना है। वह कथित हिन्दू बाबा बनकर लवजेहाद की फैक्ट्री चलाता है। उसने ज्योतिष,तंत्र-मंत्र, जादू-टोना एवं बीमारी को ठीक करने के नाम पर कई महिलाओं का शारीरिक शोषण किया है। इस घिनौने कार्य नें उसका बेटा समर खान उसमे बराबर जिम्मेदार है। दोनों पिता-पुत्रों का एक ही कार्य है हिन्दू लडकियों को फंसाना व उसका शारीरिक शोषण करना। पहले हिन्दू लड़कियों को बहला- फुसलाकर,जादू-टोना एवं बीमारी ठीक करने के नाम पर फंसाता है तथा उसका शारीरिक शोषण करता है। फिर बाद में उसका मुस्लिम पुरूषों से संपर्क करा देता है। यदि पुलिस उसकी कड़ाई और निष्पक्षता से जांच करे तो बड़े षडयंत्र का पर्दाफाष होगा।
अखिल भारत हिन्दू महासभा के राष्ट्रीय महासचिव मुन्ना कुमार शर्मा ने केन्द्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह से मांग की है कि हिन्दू विरोधी, राष्ट्रविरोधी, महिलाओं के शोषण बलात्कारी असिफ खान ( आषु भाई गुरू) और उसके बेटे समर खान के करतूतों की उच्च स्तरीय जांच करायी जाये तथा दोनां को फांसी पर लटकाया जाये।

(मुन्ना कुमार शर्मा)
राष्ट्रीय महासचिव
अखिल भारत हिन्दू महासभा
फोनः 9312177979

हिन्दू न्यायपीठ बनाने के मामले में हिन्दू महासभा ने इलाहाबाद हाईकोर्ट में जमा कराया शपथपत्रः हिन्दू महासभा

हिन्दू न्यायपीठ बनाने के मामले में हिन्दू महासभा ने इलाहाबाद हाईकोर्ट में जमा कराया शपथपत्रः हिन्दू  महासभा
नई दिल्ली,12 सितम्बर 2018

अखिल भारत हिन्दू महासभा ने हिन्दू न्यायापीठ बनाने के मामले में चल रहे मुकदमें में इलाहाबाद उच्च न्यायालय में शपथ-पत्र जमा  कर दिया है। 11 सितम्बर की तारीख पर राष्ट्रीय महासचिव मुन्ना कुमार शर्मा स्वयं उपस्थित रहे तथा शपथ पत्र सौंपा। हिन्दू महासभा द्वारा नवनियुक्त हिन्दू न्यायाधीष डा‐ पूजा शकुन पांडेय ने भी न्यायालय में शपथ पत्र जमा करा दिया है। शपथ पत्र जमा कर अखिल भारत हिन्दू महासभा ने यह स्पष्ट कर दिया है कि हिन्दू न्यायापीठ एक कानूनी सहायता एवं मध्यस्थता केन्द्र के रूप  में कार्य करेगी। वहीं जब शरिया अदालतें चल रही हैं, तो हिन्दू न्यायापीठ में क्या आपति हो सकती है। शपथ पत्र में हिन्दू महासभा ने यह भी कहा है कि यदि हिन्दुस्तान से शरिया अदालतें बंद कर दी जाये, तो हिन्दू महासभा भी हिन्दू न्यायापीठ बनाना बंद कर देगी। हिन्दू महासभा ने कहा है कि गरीब हिन्दुओं को न्याय नहीं मिल पाता है। साथ-ही हिन्दुओं के लिये कोई कानूनी परामर्ष केन्द्र नहीं है, जिससे हिन्दुओं में आपसी  झगडे़ बढ़ रहे हैं। न्यायतंत्र महंगा भी है। जिस कारण हिन्दू न्यायपीठ गरीब हिन्दुओं को न्याय दिलाने के लिये आर्थिक व कानूनी सहयोग भी करेगी।

(वीरेष त्यागी)
राष्ट्रीय कार्यालय मंत्री