रानी पद्मावती का अपमान स्वीकार्य नहीं-हिन्दू महासभा

नई दिल्ली, 31 जनवरी 2017

रानी पद्मावती का अपमान स्वीकार्य नहीं-हिन्दू महासभा

चित्तौड़ की रानी पद्मावती पर भंसाली प्रोडक्शन द्वारा फिल्माई जा रही फिल्म में राजपूत वीर रानी पद्मावती के चरित्र को गलत तरीके से दिखाए जाने के प्रयास को अखिल भारत हिन्दू महासभा के राष्ट्रीय महामंत्री मुन्ना कुमार शर्मा ने गम्भीरता से लेते हुए चेतावनी दी है कि यदि इस फिल्म का निर्माण व प्रदर्शन हुआ तो इसके गम्भीर परिणाम होंगे। उन्होंने चेताया है कि इतिहास के नाम पर धंधा करने वाले कुछ विदेशी व वामपंथी तथा-कथित इतिहासकारों के कुकृत्यों की आड़ में राजस्थान की गौरवशाली राजपूत परम्परा का अपमान कदापि बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।
रानी पद्मावती को अमर वीरांगना बताते हुए उन्होंने अपने बयान में कहा है कि मुस्लिम शासन अलाउद्दीन खिलजी से अपने शील की रक्षा करते हुए उन्होंने स्वयं को जलती चिता में झोंक दिया। किन्तु उस दुष्ट के हाथ न आ सकी। चंद पैसों के लालच और ओछी पब्लिसिटी की चाह में ऐसी महान महिला को बड़े ही घटिया तरीके से अलाउद्दीन की प्रेमिका बताया जाना न सिर्फ भारतीय इतिहास के साथ अन्याय होगा बल्कि हर भारतीय नारी के सम्मान को भी ठेस पहुंचाएगा।
एक रानी जिसने उस अत्याचारी मुस्लिम शासक की छाया भी अपने ऊपर ना पड़ने दी हो वह उस दुष्ट की प्रेमिका कैसे हो सकती है? उन्होंने चेताया कि क्या अभिव्यक्ति की आजादी और कला के नाम पर कोई हिन्दू वीरांगनाओं का अपनी ही धरती पर चीर हरण करता रहे और हम मौन रहें, अब यह नहीं होगा। फिल्म के निर्माता संजय लीला भंसाली को अविलम्ब इस मामले में देश की महिलाओं व राष्ट्रभक्त समाज से माफी मांग इस प्रकार के किसी भी फिल्मांकन पर अविलम्ब विराम लगाना चाहिए अन्यथा देश की वीरांगनाओं के सम्मान की रक्षार्थ समस्त राष्ट्रभक्त हिन्दू समाज के साथ हिन्दू महासभा इस अपमान को जन जन तक ले जाएगी।
हिन्दू महासभा महासचिव मुन्ना कुमार शर्मा ने पत्र लिखकर फिल्मकार संजय लीला भंसाली को चेतावनी दी है कि यदि फिल्म रानी पद्मावती के निर्माण और फिल्मांकन को तत्काल रोका नहीं गया तो समस्त राष्ट्रभक्त हिन्दू समाज तीव्र विरोध करेगा। उन्होंने पत्र द्वारा कहा है कि हिन्दू महासभा इस फिल्म का निर्माण व फिल्मांकन नहीं होने देगी।

भवदीय

(मुन्ना कुमार शर्मा)
राष्ट्रीय महासचिव
फोन :09312177979