हिंदी को संयुक्त राष्ट्र की भाषा बनाने हेतु ।

प्रतिष्ठा में,
श्रीमती सुषमा स्वराज जी,
माननीया विदेश मंत्री, भारत सरकार
साउथ ब्लॉक, नई दिल्ली-110011

विषय :- हिंदी को संयुक्त राष्ट्र की भाषा बनाने हेतु ।

महोदय,

भोपाल में हुए विश्व हिंदी सम्मेलन में और उसके पहले के अनेक सम्मेलनों में संकल्प पारित होते रहे हैं कि हिंदी को संयुक्त राष्ट्र संघ की आधिकारिक भाषा बनाया जाए । प्रायः देश के विदेश मंत्रियों ने सम्मेलनों में इस संकल्प के अनुसार हिंदी को संयुक्त राष्ट्र की भाषा बनाने हेतु गंभीर प्रयत्न करने के आश्वासन भी दिए । परंतु 40 वर्षों के दौरान, जबसे प्रथम विश्व हिंदी सम्मेलन नागपुर में हुआ था, गंभीर प्रयत्नों की कमी महसूस होती रही है । वर्तमान सरकार देशहित के मामलों में सक्रियता से आगे बढ़ रही है, इस पृष्ठभूमि में निवेदन है कि हिंदी को संयुक्त राष्ट्र संघ की 6 भाषाओँ के साथ 7वीं भाषा बनवाने हेतु आप अपनी ओर से पूरा-पूरा प्रयत्न करने की कृपा करें । इस संबंध में की गई कार्रवाई की जानकारी भिजवाने का कष्ट करें ।

सादर,
भवदीय

(चन्द्रप्रकाश कौशिक) राष्ट्रीय अध्यक्ष
(वीरेश त्यागी) राष्ट्रीय कार्यालय मंत्री