पासपोर्ट कार्यालयों में और वेबसाइट पर ऑनलाइन फार्म द्विभाषी (हिंदी और अंग्रेजी में)उपलब्ध कराने हेतु ।

प्रतिष्ठा में,
श्रीमती सुषमा स्वराज जी
माननीया विदेश मंत्री, भारत सरकार
साउथ ब्लॉक, नई दिल्ली-110011

विषय :- 1. पासपोर्ट कार्यालयों में और वेबसाइट पर ऑनलाइन फार्म द्विभाषी (हिंदी और अंग्रेजी में)उपलब्ध कराने हेतु ।
2. विदेश मंत्रालय में कोड मैन्युअलध्नियम पुस्तकों प्रक्रिया साहित्य कानन फार्मों आदि का हिंदी में अनुवाद कराकर द्विभाषी रूप (हिंदी और संग्रेज अंग्रेजी) में उपलब्ध कराए जाने हेतु ।

महोदय,
कम्प्यूटरों द्वारा दी जाने वाली व्यवस्थाओं में पार-पत्रों (च्ेंचवतज) के फार्म आदि अब हिंदी में सुलभ नहीं होते जबकि राजभाषा नियमावली 1976 के नियम 11 के अनुसार सब फार्म आदि सहित सब कार्यालयों, विभागों, उपक्रमों आदि का सब प्रक्रिया संबंधी साहित्य हिंदी में भी सुलभ होना अनिवार्य है ।
इसके साथ-साथ सभी भारतीय दूतावासों की वेबसाइटें हिंदी में भी अवश्य होनी चाहिएँ । हिंदी में भरे गए पार-पत्र के फार्म अब स्वीकार नहीं किए जाते, यह भारत संघ की राजभाषा हिंदी का अपमान है और साथ-साथ देश की जनता का भी अपमान है । नियमों का उल्लंघन तो है ही ।
अतः विश्वास है कि उपर्युक्त स्थिति आपके हस्तक्षेप से शीघ्र बदलेगी ।
सभी मिशनोंध्दूतावासों की नियम पुस्तकें, फार्म, टेलीफोन निर्देशिकाएँ और अन्य साहित्य द्विभाषिक रूप में सुलभ होना चाहिए । इसकी भी जाँच कराने की कृपा करें इस संबंध में की कृपा करें । इस संबंध में की गई कार्रवाई की जानकारी भिजवाने का कष्ट करें ।

सादर,
भवदीय

(मुन्ना कुमार शर्मा) संपादक
(वीरेश त्यागी) प्रबंध संपादक