औषधियों के लेबल और रैपरों पर विवरण हिंदी में भी मुद्रित किया जाना ।

प्रतिष्ठा में,
श्री जगत् प्रकाश नड्डा जी,
माननीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री, भारत सरकार
निर्माण भवन, नई दिल्ली-110011

विषय :- औषधियों के लेबल और रैपरों पर विवरण हिंदी में भी मुद्रित किया जाना ।

महोदय,
देश के अंग्रेजी न जानने वाले विशाल नागरिक वर्ग को नकली दवाओं और अवधि समाप्त दवाओं के प्रकोप से बचाने के लिए यह आवश्यक है कि किसी परामर्शदातृ समिति की जनविरोधी सलाह की अन्देखी करके हिन्दुस्थान की सरकार समग्र जनहित में सब औषधियों के लेबलों, रैपरों और पैकेटों आदि पर सब विवरण देवनागरी में भी दिया जाना अनिवार्य करे और यह विवरण ऐसे रूप में न हो जिसे पढने के लिए आँखों पर चश्मा लगा कर भी आकारवर्धक लेंस (डंहदपलिपदह ळसें) का प्रयोग करके पढना पड़े । विश्वास है कि आप औषध परामर्शदातृ समिति के किसी भी जनविरोधी निर्णय को रद्द कर देंगे ।
उल्लेखनीय है कि कुछ वर्ष पहले जब श्री गुलाम नबी आजाद स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री थे तब हिंदी सलाहकार समिति की बैठक में यह मुद्दा उठा था और उन्होंने इस बाबत स्वीकृति देकर आदेश भी जारी करने को कहा था ।
रसायन और उर्वरक मंत्रालय भी इस विषय में पहले से ही सजग है और दवाओं पर सब विवरण हिंदी में दिए जाने के लिए प्रतिबद्ध है । इस संबंध में की गई कार्रवाई की जानकारी भिजवाने का कष्ट करें ।

सादर,
भवदीय

(मुन्ना कुमार शर्मा) संपादक
(वीरेश त्यागी) प्रबंध संपादक