असम में सरकारी नौकरियों के लिए विवाह की आयु की सीमा निर्धारित की गई ।

प्रतिष्ठा में,
श्री सर्बानंद सोनोवाल जी,
माननीय मुख्यमंत्री, असम
सीएम ब्लॉक, जनता भवन, दिसपुर, असम-781006

विषय :- असम में सरकारी नौकरियों के लिए विवाह की आयु की सीमा निर्धारित की गई ।

महोदय,
समाचार पत्रों में असम में मुस्लिम जनसंख्या की बेलगाम बढ़ोतरी की जानकारी दी गई है । असम के नौ जिले मुस्लिम बहुल हो गए हैं । सब जानते हैं कि असम में लाखों बंग्लादेशी मुसलमान घुसे हुए हैं, जो मतदाता बन गए हैं और जिन्होंने असमी हिंदुओं के भोलेपन का अनुचित लाभ उठाते हुए उनकी जमीनों पर कब्जे कर लिए हैं । कुछ लोग यह भी बताते हैं कि जमीनों पर कब्जे हिन्दू लडकियों से निकाह करके किए और अब असम में हिन्दू लडकियों की संख्या बहुत कम हो गई है । सच्चाई तो आप जानते ही होंगे।
इस प्रसंग में वर्तमान असम सरकार के निम्नलिखित निर्णय स्वागत योग्य और समान नागरिक संहिता की दिशा में उल्लेखनीय निर्णय माने जाएँगे :-
1. स्त्रियों और पुरुषों की निर्धारित आयु होने पर ही विवाह/निकाह होना सुनिश्चित करना ।
2. सरकारी नौकरियों में दो संतानों से अधिक वाले व्यक्ति को नौकरी पर न लगाना और नौकरी के बाद भी दो संतानों से अधिक होने पर रोक लागू रखना ।
इसके साथ-साथ यह भी आवश्यक किया जाए कि कोई मुसलमान सरकारी कर्मचारी एक से अधिक निकाह नहीं करेगा ।
इस संबंध में की गई कार्रवाई की जानकारी भिजवाने का कष्ट करें ।

सादर,
भवदीय

(चन्द्रप्रकाश कौशिक) राष्ट्रीय अध्यक्ष
(मुन्ना कुमार शर्मा) राष्ट्रीय महासचिव
(वीरेश त्यागी) राष्ट्रीय कार्यालय मंत्री