एक से अधिक विवाह के पंजीकरण पर रोक लगे।

प्रतिष्ठा में,
श्री योगी आदित्यनाथ जी महाराज,
माननीय मुख्यमंत्री, उत्तर प्रदेश
लाल बहादुर शास्त्री भवन, लखनऊ
उत्तर प्रदेश

विषयः एक से अधिक विवाह के पंजीकरण पर रोक लगे।

महोदय,
अब उत्तर प्रदेश में पति-पत्नी दोनों के चित्रों सहित विवाह/निकाह का पंजीकरण अनिवार्य कर दिया गया है । समान सिविल संहिता की दिशा में यह उत्तर प्रदेश सरकार का एक कदम है । इसके साथ-साथ देश के कुछ राज्यों में बने कानूनों/नियमों के अनुसार प्रदेश में दो या तीन से अधिक बच्चों/संतानों वालों को ग्राम पंचायत/नगर पंचायत/नगर पालिका/विधान सभा/संसद के सदस्यों का चुनाव लड़ने से वंचित करने का नियम भी लागू कर दिया जाए, साथ-साथ इस नियम के पालन की जाँच के लिए जनगणना के अभिलेखों से सम्बंधित व्यक्ति/परिवार द्वारा दी गई सूचना की पुष्टि कर ली जाए, क्योंकि ऐसी जानकारियाँ मिल रही हैं कि कुछ परिवार जनगणना में सदस्यों की संख्या कम दिखाते हैं, जबकि वस्तुतः सदस्य अधिक होते हैं ।
इसके साथ-साथ अनुरोध है कि किसी पुरूष की केवल एक विवाह का ही पंजीकरण कराया जाये। चाहे किसी भी संप्रदाय का पुरूष हों। नियम सबके लिये एक ही होना चाहिए। एक पंथनिरपेक्ष राष्ट्र में पंथ के आधार पर भेदभाव न हो।

सादर,
भवदीय

(मुन्ना कुमार शर्मा)
राष्ट्रीय महासचिव