श्रीराम जन्मस्थान पर मंदिर बनाने का विरोध करने वालों की नागरिकता समाप्त हो-हिन्दू महासभा

नई दिल्ली, 09 अगस्त 2017

श्रीराम जन्मस्थान पर मंदिर बनाने का विरोध करने वालों की नागरिकता समाप्त हो-हिन्दू महासभा

अयोध्या स्थित श्रीराम जन्मस्थान मुकदमे के प्रमुख पक्षकार अखिल भारत हिन्दू महासभा के राष्ट्रीय महासचिव मुन्ना कुमार शर्मा ने शिया बक्फ बोर्ड द्वारा उच्चतम न्यायालय में हलफनामा प्रस्तुत कर श्रीरामजन्मस्थान को हिन्दुओं को सौंपने की अपील का स्वागत किया है। उन्होंने कहा है कि भगवान श्रीराम हिन्दुस्तान के लोगों के लिये मर्यादा पुरूषोत्तम हैं। भगवान राम देश की पहचान हैं। उनसे हमारे देश का गौरव बढ़ता है। इसलिये ऐसे मर्यादा पुरूषोत्तम के जन्मस्थान पर भव्य मंदिर अतिशीघ्र बनना चाहिए। उन्होंने 11 अगस्त से मुकदमे की सुनवाई करने व उसके लिये पीठ गठित करने के उच्चतम न्यायालय के फैसले का स्वागत किया है तथा कहा है कि निर्णय भी हिन्दुओं के पक्ष में ही आयेगा। उन्होंने कहा कि शिया बक्फ बोर्ड का निर्णय सत्य की जीत है। भगवान राम के जन्मस्थान पर यदि मंदिर नहीं बनेगा तो क्या मंदिर पाकिस्तान में बनेगा। उन्होंने बताया कि हिन्दू महासभा ने मुकदमे में जोरदार पक्ष रखने की तैयारी कर ली है। उन्होंने कहा कि जब आर्केलाजिकल सर्वे आफ इंडिया द्वारा की गई खुदाई से स्पष्ट प्रमाण मिल गया है कि तोड़े गये ढ़ांचे के नीचे मंदिर थी, तो अब श्रीराम मंदिर बनाने में विलम्ब क्यों हो रहा है।
अखिल भारत हिन्दू महासभा नेता मुन्ना कुमार शर्मा ने केन्द्र की राजग सरकार से अयोध्या स्थित भगवान राम के जन्मस्थान पर मंदिर बनाने का विरोध करने वालों की नागरिकता समाप्त करने की मांग की है। उन्होंने कहा कि मर्यादा पुरूषोत्तम भगवान राम के मंदिर का विरोध करने वालों को हिन्दुस्तान में रहने का नैतिक अधिकार नहीं है। उनका देश निकाला किया जाये।
(मुन्ना कुमार शर्मा)
राष्ट्रीय महासचिव
फोनः9312177979