मिलिट्री फार्म्स को बंद करने का निर्णय केन्द्र सरकार शीघ्र वापस ले-हिन्दू महासभा

नई दिल्ली, 31 अगस्त 2017

मिलिट्री फार्म्स को बंद करने का निर्णय केन्द्र सरकार शीघ्र वापस ले-हिन्दू महासभा
भारत सरकार के रक्षा मंत्रालय ने निर्णय लिया है कि देश के सभी 39 मिलिट्री फार्म्स को बन्द कर दिया जायेगा। इस संबंध में रक्षा मंत्री अरूण जेटली ने आदेश जारी कर दिया है।
गोवंश का आगे प्रजनन भी बन्द कर दिया जायेगा तथा मिलिट्री फार्म्स पर पशुओं के लिये जो चारा उगाया जाता है, उसे उगाना बन्द कर दिया जायेगा।
अखिल भारत हिन्दू महासभा के राष्ट्रीय महासचिव मुन्ना कुमार शर्मा ने केन्द्र सरकार के रक्षा मंत्री के इस निर्णय का विरोध किया है। उन्होंने कहा है कि रक्षा मंत्री का यह निर्णय गोवंश को समाप्त करने वाला निर्णय है। हिन्दुस्तान के गौरक्षक व 100 करोड़ हिन्दू इस निर्णय का विरोध करेंगे। श्री शर्मा ने चेतावनी दिया है कि यदि केन्द्र सरकार ने इस गौवंश विरोधी निर्णय को शीघ्र वापस नहीं लिया तो अखिल भारत हिन्दू महासभा राष्ट्रव्यापी जनांदोलन करेगी। उन्होंने कहा कि इस आदेश के अन्तर्गत लगभग 25,000 पशुओं के डिस्पोजल की बात लिखी गई है। आदेश केवल गायों के लिये ही है। सभी श्रेणी की अर्थात दूध देने वाली अथवा दूध न देने वाला अथवा बछड़े बछिया सभी का डिस्पोजल किया जाना है।
आदेश में लिखा है कि छोटे मिलिट्री फार्म्स अपने पशुओं को बड़े मिलिट्री
फार्म्स को स्थानांतरित करेंगे और जिन गाय, बछड़ों को स्थानांतरण करना संभव नहीं होगा उनकी सार्वजनिक नीलामी कर दी जाए। ज्ञात हो कि ये मिलिट्री फार्म्स लगभग 125 वर्ष पूर्व प्रारम्भ किए गय थे। इनमें भारतीय नस्ल की गाय पाली जाती थी ताकि भारतीय सैनिकों को अच्छा दूध मिल सके। उन्होंने कहा कि पशुपालन करने वाले विशेषज्ञ यह बताएंगे कि गर्भधारण करने की अवस्था में यदि गर्भधारण न कराया जाय तो पशु पर इसके दुष्परिणाम क्या होंगे? इन तथ्यों के दुष्परिणामों को समझना कठिन नहीं है।

(मुन्ना कुमार शर्मा)
राष्ट्रीय महासचिव
फोनः9312177979