कर्मचारी चयन आयोग द्वारा ली जाने वाली संयुक्त उच्चतर माध्यमिक स्तर तथा संयुक्त स्नातक स्तर की परीक्षाओं के पाठ्यक्रमों में संशोधन ।

प्रतिष्ठा में,
डॉ. जितेन्द्र सिंह जी,
माननीय कार्मिक एवं प्रशिक्षण राज्यमंत्री, भारत सरकार
नॉर्थ ब्लॉक, नई दिल्ली-110001

विषय :- कर्मचारी चयन आयोग द्वारा ली जाने वाली संयुक्त उच्चतर माध्यमिक स्तर तथा संयुक्त स्नातक स्तर की परीक्षाओं के पाठ्यक्रमों  में संशोधन ।

महोदय,
यह जानकर आश्चर्य और क्षोभ का अनुभव हुआ है कि कर्मचारी चयन आयोग द्वारा संयुक्त स्नातक स्तर तथा संयुक्त उच्चतर माध्यमिक स्तर की परीक्षाओं के पाठ्यक्रमों में संसद के दोनों सदनों में दिसम्बर, 1967 में पारित सर्वसम्मत संकल्प दिनांक-18 जनवरी, 1968 के प्रावधानों की अनदेखी करके अंग्रेजी को वरीयता देने का अनर्थ किया जा रहा है । जिस प्रकार प्रधानमंत्री जी ने स्वदेश और दुनियाभर में हिंदी को भारी सम्मान दिया है और हिंदी के प्रयोग की प्रेरणा दी है, उसके आलोक में अंग्रेजी के अंकों की वृद्धि प्रतिगामी कदम है ।
संसदीय राजभाषा समितियों की अनुशंसाओं के आधार पर राष्ट्रपति जी के आदेशों में भी परीक्षाओं में अंग्रेजी के प्रश्न-पत्र के विकल्प में हिंदी का प्रश्न-पत्र होना है, इसलिए अंग्रेजी के प्रश्न-पत्र के विकल्प में उतने ही अंकों का हिंदी का प्रश्न-पत्र रखा जाए ।
विशाल हिंदी भाषी क्षेत्र की और अन्य अनेक राज्यों की उपेक्षा करके अंग्रेजी को अधिक महत्व देना देश और जन हित में उचित नहीं है । यथाशीघ्र विचार करने की कृपा करें । सुधार करने की कृपा करें । इस सम्बंध में की गई कार्रवाई की जानकारी भिजवाने का कष्ट करें ।

सादर,
भवदीय

(मुन्ना कुमार शर्मा) संपादक

(वीरेश त्यागी) प्रबंध संपादक