श्रीलंका में मुस्लिमों के खिलाफ हिंसा के कारण भारत में घुसपैठ रोकने व घुसपैठियों को देष से बाहर ढकेलने की मांग।

प्रतिष्ठा में,

श्री राजनाथ सिंह जी,
माननीय गृहमंत्री, भारत सरकार,
नॉर्थ ब्लॉक, नई दिल्ली-110001

विषय :- श्रीलंका में मुस्लिमों के खिलाफ हिंसा के कारण भारत में घुसपैठ रोकने व घुसपैठियों को देष से बाहर ढकेलने की मांग।

महोदय,

श्रीलंका में कुछ महीने पहले बौद्धों को इस्लाम कबूल कराने का मामला सामने आया था अर्थात् मुसलमानों ने जनसंख्या बढ़ाने का अपना महा-अभियान हिन्दुस्थान की तरह बंग्लादेश, म्यांमार और श्रीलंका में जोर-शोर से चला रखा  है । नेपाल में लगभग 50 वर्ष पहले मुसलमान उड़द पर सफेदी के बराबर थे और कोई मस्जिद नहीं थी, आज वहाँ लाखों मुसलमान हैं और दर्जनों मस्जिदें हैं, जो हिन्दुस्थान के मुसलमानों की कृपा से हैं ।
केन्द्रीय सरकार को तत्काल ऐसे कदम उठाने चाहिएँ ताकि रोहिंग्या मुसलमानों की तरह कहीं हिन्दुस्थान में श्रीलंका के मुसलमान भी घुसने न लगें, क्योंकि मुसलमानों के प्रति गहरे लगाव के कारण यहाँ के मुसलमान आप-पास के देशों से आने वाले मुसलमानों को घुसाने में लगे हैं ।
रोहिंग्या मुसलमानों को तत्काल बंग्लादेशी मुसलमानों के साथ बंग्लादेश में धकेल दिया जाना सरकारी कर्तव्य है । इस सम्बंध में की गई कार्रवाई की जानकारी भिजवाने का कष्ट करें ।

सादर,
भवदीय

(चन्द्रप्रकाष कौषिक) राष्ट्रीय अध्यक्ष

(मुन्ना कुमार शर्मा)  राष्ट्रीय महासचिव